loading...

Thursday

मेरा नाज़ायज़ बच्चा


मेरा नाज़ायज़ बच्चा !


उफ्फ तुम यहाँ हो , फ़ोन क्यूँ नही उठा रहे , मैं माँ बनने वाली हूँ, अब हमें शादी कर लेनी चाहिए फौरन , वरना मैं मर जाऊंगी"
मैं और श्रीमती जी होटेल में छोला भटूरा खा रहे थे कि, अचानक एक खूबसूरत लड़की ने आ कर मेरा हाथ पकड़ लिया !!
मेरे मुंह से निकल गया," माँ तो ये भी बनने वाली है ,ये तो आगे कुछ न बोल री ....पेल के खा रही, देखो !" इनके मूंह में खूब बड़ा सा भटूरे का टुकड़ा छोले चटनी के साथ झिम्मा ,फुगड़ी खेल रहा था , ये कुछ बोल नही पा रही थी ! !
मैं संभला " कौन हैं आप ,मैं आपको नही जानता भटूरा खाना हो तो वैसे ही खा लो , बढ़िया होता है यहाँ का , जब भी ये माँ बनने वाली होती है यहां ज़रूर आती है ...!!"
मज़ाक का वक्त नही है , दो महीने हो गए हैं , ऐसा क्यों किया बोलो मैं क्या करूँ अब कहाँ जाऊं ..."... महिला अब एकदम सीरियस हो गई ,आंखों में नमी और चेहरे पर तनाव दिख रहा था !
मैंने , दिमाग और निकट भूत काल, दोनों पर बहुत स्कैन किया... पर ये माँ बनने वाला हिसाब, कुछ हजम नही हो रहा था !!
इनका भटूरा और छोले नीचे खिसक चुके थे ।
अब ये बोलीं " ये सब क्या हो रहा हैक्या कह रही है ये मेरी कुछ समझ नही आ रहा "
मैं बोला " तुम समझने का टेंशन मत लो इस हालत में, मैं समझाता हूँ ये कह रही है कि फ़ोन क्यूं नही उठाया, कहाँ था, यहाँ क्यूँ हूँ, वहाँ इसके साथ क्यूँ नही हूँ,  ऐसा क्यों किया, और इसके पेट का बच्चा मेरी तरफ अपनी नाज़ुक उंगली उठा के पापा पापा बोल रहा है,समझीं कुछ ? !"
उत्तर में इनके मुंह से एक भीमकाय डकार निकल गयी ! ज़्यादा खा के यही होता है इसका ।
अब वो महिला मेरे से लिपट गयी " मत छोड़ के जाओ, मुझे इस हाल में, चलो हम अपना घर बसाएंगे कहीं दूर.... बहुत दूर !
अस्सी रुपए लीटर पेट्रोल है इसका बाप भरेगा स्कूटर में, दूर दूर कर रही है !! ये नही की पड़ौस में ही रहने की बात करे,की टहलते हुए चले जाएं ।
पूरे चार मिनट पच्चीस सेकेंड लिपटी रही, रिकॉर्ड ब्रेक हो गया मेरापर इतना अच्छा लग रहा कि क्या बताऊं.... सच्ची !
तभी देखा... होटल में मेरे चारो तरफ बैठे लोग तालियाँ बजाते हुए उठ खड़े हुए, ..और एक टोपी लगाए व्यक्ति ने आ कर उस महिला को कहा ..." सुपर्ब एक्टिंग ज़ोया, कमाल कर दिया, यू आर थ्रू , यू आर माय हीरोइन, ग्रेट !!
मैं सोच रहा था कि ज़रा अच्छा सीन चल रहा था,कमीने ने ताली बजवा दी । राज कपूर से सीखोपिक्चर कैसे बनती है, बड़ा आया डायरेक्टर की औलाद !!
“समाप्त”

Share:

0 Comments:

Post a Comment

Copyright © Jokesme : A blog about SEO and Fun | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com