चाँद सितारों सी ख्वाहिश नहीं हमारी | Top 10 Best Hindi Love Shayari


चाँद सितारों सी ख्वाहिश नहीं हमारी | Top 10 Best Hindi Love Shayari

भूल कर आपको जायेंगे कहा
एक पल ज़मीन पर जी पाएंगे कहा
आपसे ही मुस्कराहट है जिंदगी में
बिना आपके खुश रह पाएंगे कहाँ..!!!
==================================

Top 10 Best Hindi Love Shayari

इज़हार करना चाहते है पर अल्फाज नहीं है
अल्फाज़ मिलते है तो कुछ सवालों के जवाब नहीं है
ये दिल क्यूँ अजनबियों पर मर मिटता है
ढूंडते तो उनको पर कोई निसान नहीं मिलते है...!!!
=================================
बेवजह हम वजह ढूंडते है तेरे पास आने को
ये दिल बेकरार है तुझे धड़कन में बसाने को
भुझी नहीं है प्यास इन होठों की अभी तक
ना जाने कब मिलेगी सुकून मेरे पेमाने को...!!!
====================================
मेरी जिंदगी तेरे होने से चलती है
दिन की धुप तेरी मुस्कुराहट से खिलती है
तेरा हस्ता चेहरा मेरे जीने का सहारा है
तुम बिन इस दुनिया में और कौन हमारा है...!!!
===================================
ऐसी बेवफाई की उसने
मोहब्बत भी बदनाम हो गयी
अपनी मोहब्बत की इतनी कीमत वसूल की उसने
की हमारी अर्थी भी नीलाम हो गयी...!!!
==================================
सुकून मेरे दिल का कहीं खों गया है
विरंगी गलियों में मदहोश हो गया है
हर पल बस उसका दीदार करते है ख्यालो में
एक अजनबी मुझको प्यार की बारिश में भीगा गया है..!!!
================================
में पागल नहीं था पर अब हो गया हूँ
में घायल माहि था पर अब हो गया हु
सुना था कही की मदहोश कर देती है वो आँखें
मेने देखि तो नहीं पर मदहोश हो गया हूँ
उठी जब वादियों में उसके पायल की झंकार
में सोया तो नहीं पर उसके सपनों कायल हो गया हूँ...!!!
==================================
चाँद सितारों सी ख्वाहिश नहीं हमारी
बस यूही बसती रहना सांसो में हमारी
दरिया से बाद दिल तुम्हारा जो मानती दुनिया सारी
लफ्जों में न बाया हो वो सक्सियत है हमारी...!!!
=================================
आप आयेंगे हमसे मिलने को अगर तो हम पर इनायत होगी
चाँद तारों की महफ़िल सजेगी पूरी उनकी इबादत होगी
बसा लेंगे उस लम्हे को अपनी निगाहों में हम
फिर ना उस रब से हमे कोई शिकवा शिकायत होगी..!!!

चाँद सितारों सी ख्वाहिश नहीं हमारी | Top 10 Best Hindi Love Shayari चाँद सितारों सी ख्वाहिश नहीं हमारी | Top 10 Best Hindi Love Shayari Reviewed by Admin on June 03, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.