समन्दर में कस्ती है अपनी अलग | Most Hindi Dard Shayari Pyar Ka Status


Most Hindi Dard Shayari Pyar Ka Status

इस शाम ने दिलाई है याद किसी खास की
जिसको पाने की मुझे आस थी
वो तो न मिली पर उसका एहसास साथ है
यादों में ही सही पर वो आज भी मेरे पास है..!!!
=================================

Most Hindi Dard Shayari Pyar Ka Status

कुछ सिमटी हुई छोटी सी दुनिया है मेरी
इस दिल की गहराईयों में आपको ले जाओ कैसे
आसमान की उचाईंयां तक मेरे ख्वाब बिखरे है
अपने अरमानो की हद में दिखाऊँ कैसे...!!!
=====================================
दिल को गम आखों को सावन चाहिए
मुझे तुम नहीं बस तेरा दामन चाहिए
सिर्फ चेहरे से कहा बनती है बात
इश्क में तो दिल भी रोशन चाहिए..!!!
====================================
समन्दर में कस्ती है अपनी अलग
मुझे उस तरफ एक किनारा चाहिए
वो अब कुछ मासूम से बनने लगे है
कुछ मुझे भी मेरा बचपन चाहिए
===================================
मुस्कुराना मेरी आदत है आसूओं को छुपा कर
पर हर ग़म को अपनी हसी से बहलाऊ कैसे
दोस्ती ही मेरी चाहत है और दोस्ती में ज़िन्दगी
इश्क से अपनी बेरुखी का सबाब बताऊँ कैसे....
====================================
होकर मेरी सरहदों में शामिल
आप ही जान लो मुझे
किसी और तरह आपको खुद से मिलवाऊँ कैसे....!!!
====================================
सारी उम्र आपको प्यार मिले
जो दिल में हो वो हजार बार मिले
बिछड़ जाते है मिलने के बाद कुछ लोग
सातों जन्म न बिछड़े ऐसा आपको प्यार मिले...!!!
===================================
नहीं चाहिए मुहे ऐसा कोई तोहफा
जो मेरी उम्र बढ़ा दें
देदे मुझे ऐसी कोई दुआ
जो मुझे चैन की नींद सुला दें...!!!
====================================
मेरे साथिया मेरे बाँहों में आ
मेरे दिल की हसीन पनाहों में आ
में दुनिया दिखा दूँ प्यार की
आ मेरे साथ मेरी राहों में...!!!
==================================
चाँद से की थी गुज़ारिश हमने
मेरे चाँद से कर मुलाकात कभी
चाँद भी मुस्कुराकर ढल गया
कहा मर कर मुझे शर्मिंदा अभी
तेरे चाँद को देख कर
फिर ना में चमक पाउँगा
रौशनी तेरे चाँद की है कुछ अलग
शायद में खो जाऊंगा...!!!

समन्दर में कस्ती है अपनी अलग | Most Hindi Dard Shayari Pyar Ka Status समन्दर में कस्ती है अपनी अलग | Most Hindi Dard Shayari Pyar Ka Status Reviewed by Admin on June 03, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.