मैं आज तुझसे एक वादा करती हूँ | Dukh - Dard Bhari Shayari


Dukh - Dard Bhari Shayari

प्यार करके जताए जाये ये कोई जरूरी नहीं
यद् करके कोई बताये ये कोई जरुरी नहीं
रोने वाले दिल में ही रो लेते है
आँख में आँसू आये ये जरुरी नहीं...!!!

कैसे जी रहा हूँ मैं नहीं जानता
क्यों अब तक जिंदा हूँ मैं नहीं जानता
मौत तो आनी है और आएगी एक दिन
मगर तू कब आएगी ये नहीं जानता...!!!

Pyar Me Dhokha - Sad Shayari in Hindi

प्यार में धोखा खाए हुए इन्सान ने खुदा से कहा
या खुदा तू इश्क ना करना वर्ना खूब पछतायेगा
हम तो मरकर तेरे पास आयेगे तू किसके पास जायेगा

अपना भी गम मुझे मेरे राजदार दे
कुछ इस तरह खुदा पर मुझे ऐतबार दे
कहीं कल तुम मेरा हाथ न छोड़ दो
जितना निभा सको मुझे उतना ही बस प्यार दो..!!!

वफ़ा की जंग मत लड़ना सब बेकार जाती है
दुनिया जीत जाती है प्यार में मोहब्बत हर जाती है
हमारी बात छोड़ो हम ऐसे लोग है जिनको
जमाना कुछ नहीं कहता मगर जुदाई मार जाती है..!!!

मैं आज तुझसे एक वादा करती हूँ
की मैं सारे वादे निभाउंगी
पर एक वादा मुझे तुझसे भी लेना है
जो तू अगर कभी मुझे दर्द दें
तो यह कह देना तू उस दर्द से अंजान था...!!!

भर आई आखे जब उसका नाम आया
इश्क नाकाम ही सही फिर भी बहुत काम आया
हमने इश्क में ऐसी भी गुजारी है रातें
जब तलक आँसू ना बहे दिल को आराम ना आया...!!!

धोखा दिया जब उसने मुझे
जिंदगी से नाराज था
फिर सोचा उसको दिल से निकल दूँ
देखा तो कम्बक्थ दिल भी उसके पास था...!!!

सांस भी लूं तो उसकी महक आती है
उसने ठुकराया है मुझे इतना करीब आने के बाद
उसकी आँखों में नज़र आता है सारा जहाँ मुझको
अफ़सोस की उन आँखों में कभी खुद को नहीं देखा...!!!

मैं आज तुझसे एक वादा करती हूँ | Dukh - Dard Bhari Shayari मैं आज तुझसे एक वादा करती हूँ | Dukh - Dard Bhari Shayari Reviewed by Admin on June 07, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.